World Food Day 2021: क्यों मनाया जाता है विश्व खाद दिवस? तथा जानिए इसका इतिहास

World Food Day 2021: क्यों मनाया जाता है विश्व खाद दिवस? तथा  जानिए इसका इतिहास

World Food Day 2021: आज विश्व का लगभग 150 देशों से ज्यादा देश विश्व खाद दिवस (World Food Day) को महोत्सव के रूप में मना रहा है। दरअसल आज ही के दिन अर्थात 16 अक्टूबर 1945 को रोम में खाद एवं कृषि संगठन (food and agriculture organization) की स्थापना किया गया था। इस संगठन का लक्ष्य दुनिया में तेजी से बड़ रही आधुनिक तकनीकी के साथ साथ कृषि , खाद सुरक्षा , पोषक तत्वों तथा पर्यावरण का भी जानकारी देना था । जिससे की लोग अच्छी पोषक तत्वों वाली भोजन तथा पैस्टिक आहार का सेवन करे तथा साथ साथ हो रहे भोजन बर्बाद को भी रोका जा सके।

16 अक्टूबर – विश्व खाद दिवस (world Food Day)

विश्व खाद दिवस थीम 2021 – स्वस्थ कल के लिए आज का सुरक्षित भोजन (safe food for healthy tomorrow)

विश्व खाद दिवस (world Food Day) का इतिहास:

16 अक्टूबर 1945 को रोम में खाद एवं कृषि संगठन (food and agriculture organization) की स्थापना किया गया था। लेकिन इस संघठन के 20वे सम्मेलन 1979 में इस प्रस्ताव को रखा गया। संयुक्त राष्ट्र संगठन (UNO) के द्वारा इसे 5 नवंबर 1980 को यह घोषित किया गया की 16 अक्टूबर को विश्व खाद दिवस (world Food Day) के रूप में मनाया जाएगा। इसके बाद प्रथम बार 16 अक्टूबर 1980 को विश्व खाद दिवस मनाया गया तब से 16 अक्टूबर को प्रत्येक वर्ष विश्व खाद दिवस के रूप में मनाते हैं।

विश्व खाद्य दिवस (world Food Day) क्यों मनाया जाता है ?

आज के समय में दुनियाभर में करोड़ों लोग भोजन से वंचित रह जा रहे है। जबकि भोजन जीवन की एक मौलिक इकाई है , आज के समय में भोजन की बर्बादी भी चरम सीमा पर है। विश्व खाद्य दिवस मनाने का कारण भोजन के प्रति लोगों को जागरूक करना है। दुनिया से भुखमरी मिटाना है। खाद्य एवं कृषि संगठन (FAO) हमेशा भुखमरी को खत्म करने के लिए नई नई पहल करता रहता है।इस कोरोना काल के समय में भारत सरकार का एक महत्वपूर्ण कदम (सभी को फ्री राशन) उठाया गया था जो कि बहुत ही कारगर साबित हुआ।

विश्व खाद दिवस थीम 2021 (world Food Day Theme 2021) :

प्रत्येक वर्ष एक नई थीम के साथ विश्व खाद्य दिवस (world Food Day) को मनाया जाता है जिससे कि लोग ज्यादा से ज्यादा जागरूक हो सके। विश्व खाद दिवस 2021 का थीम ” स्वास्थ्य कल के लिए आज का सुरक्षित भोजन” (safe food for healthy tomorrow) । यदि हम आज भोजन को बचाते हैं बर्बाद नहीं करते हैं तो कल की अच्छा दिन की कामना कर सकते हैं। भोजन जीवन की मूलभूत इकाई है इसके बिना जीवन असंभव है तो भोजन को बर्बाद न करना और हो सके तो गरीब लोगों के बीच भोजन का प्रबंध करना हो विश्व खाद दिवस की सही मायने है।

स्वस्थ शरीर की कामना:

स्वस्थ शरीर की कामना हम तभी कर सकते हैं जब अच्छी भोजन अर्थात पॉस्टिक युक्त भोजन हरी सब्जियां तथा विटामिन युक्त पोष्टिक तत्व ड्राई फ्रूट्स फल इत्यादि का सेवन करेंगे। हम लोगों को भोजन को लेकर जागरूक होना चाहिए क्योंकि बीमारी की जड़ भोजन ही होता है। यदि आप अच्छी भोजन का सेवन कर रहे हैं तो आप स्वस्थ है अन्यथा नहीं ! अभी भी बहुत से लोगों को उत्तम आहार न मिलने से उन लोगों की हालत बद से बदतर होते चली जा रही है जो आत्मघाती बीमारी के शिकार हो रहे है।