[25 जनवरी] राष्ट्रीय मतदाता दिवस की सभी जानकारी | 25 January National Voter’s Day [2022]

[25 जनवरी] राष्ट्रीय मतदाता दिवस की सभी जानकारी | 25 January National Voter’s Day [2022]

आज 12वा राष्ट्रीय मतदाता दिवस है. भारत में राष्ट्रीय मतदाता दिवस (National voters day) प्रत्येक वर्ष 25 जनवरी को मनाया जाता है. आज के इस पोस्ट में राष्ट्रीय मतदाता दिवस के सभी जानकारी को जानेंगे और समझेंगे. चलिए शुरू करते हैं-

National voters day 2022

आज 25 जनवरी 2022 है. आज भारतवर्ष में अर्थात् भारत के सभी नागरिक राष्ट्रीय मतदाता दिवस को मना रहे हैं. जो कोई भी नहीं जानते उन सभी के बीच मतदाता दिवस समारोह पर चर्चा किया जा रहा है.

यह दिवस भारत के प्रत्येक नागरिक के लिए अहम है. इस दिन भारत के प्रत्येक नागरिक को अपने राष्ट्र के प्रत्येक चुनाव में भागीदारी की शपथ लेनी चाहिए, क्योंकि भारत के प्रत्येक व्यक्ति का वोट ही देश के भावी भविष्य की नींव रखता है. इसलिए हर एक व्यक्ति का वोट राष्ट्र के निर्माण में भागीदार बनता है.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस की शुरुआत कब हुई थी

भारत सरकार ने वर्ष 2011 से हर चुनाव में लोगों की भागीदारी बढ़ाने के लिए निर्वाचन आयोग के स्थापना दिवस ’25 जनवरी’ को ही ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ के रूप में मनाने की शुरुआत की थी और 2011 से ही हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है.

भारत निर्वाचन आयोग का गठन कब किया गया

भारत निर्वाचन आयोग’ का गठन भारतीय संविधान के लागू होने से 1 दिन पहले 25 जनवरी 1950 को हुआ था, क्योंकि 26 जनवरी 1950 को भारत एक गणतांत्रिक देश बनने वाला था और भारत में लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं से चुनाव कराने के लिए निर्वाचन आयोग का गठन जरूरी था इसलिए 25 जनवरी 1950 को ‘भारत निर्वाचन आयोग’ गठन हुआ.

भारत निर्वाचन आयोग का गठन क्यों किया गया

किसी भी गणतांत्रिक राष्ट्र में चुनाव होती है. चुनाव में किसी भी प्रकार की समस्या न हो चुनाव निष्पक्षता से हो. ये सभी तभी संभव है. जब कोई आयोग चुनाव को संचालित करे. इसीलिए भारत गणतंत्र राष्ट्र बनने से पहले ही 25 जनवरी 1950 को ‘भारत निर्वाचन आयोग’ का गठन किया.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाने का उद्देश्य

  • भारत सरकार ने वर्ष 2011 से हर चुनाव में लोगों की भागीदारी बढ़ाने के लिए निर्वाचन आयोग के स्थापना दिवस ’25 जनवरी’ को ही ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ के रूप में मनाने की शुरुआत की थी और 2011 से ही हर साल 25 जनवरी को राष्ट्रीय मतदाता दिवस मनाया जाता है. इस दिन देश में सरकारों और अनेक सामजिक संथाओं द्वारा लोगों को मतदान के प्रति जागरूक करने के लिए अनेक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिससे कि देश की राजनीतिक प्रक्रियाओं में लोगों की अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित की जा सके.
  • राष्ट्रीय मतदाता दिवस का हर वर्ष आयोजन सभी भारत के नागरिकों को अपने राष्ट्र के प्रति कर्तव्य की याद दिलाता है. राष्ट्रीय मतदाता दिवस का आयोजन लोगों को यह भी बताता है कि हर व्यक्ति के लिए मतदान करना जरूरी है. भारत के प्रत्येक नागरिक का मतदान प्रक्रिया में भागीदारी जरूरी है, क्योंकि आम आदमी का एक वोट ही सरकारें बदल देता है। हम सबका एक वोट ही पलभर में एक अच्छा प्रतिनिधि भी चुन सकता है और एक बेकार प्रतिनिधि भी चुन सकता है इसलिए भारत के प्रत्येक नागरिक को अपने मत का प्रयोग सोच-समझकर करना चाहिए और ऐसी सरकारें या प्रतिनिधि चुनने के लिए करना चाहिए, जो कि देश को विकास और तरक्की के पथ पर ले जा सकें.
  • राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ का उद्देश्य लोगों की मतदान में अधिकतम भागीदारी सुनिश्चित करने के साथ-साथ मतदाताओं को एक अच्छा साफ-सुथरी छवि का प्रतिनिधि चुनने हेतु मतदान के लिए जागरूक करना है। हमारे लोकतंत्र को विश्व में इतना मजबूत बनाने के लिए मतदाताओं के साथ-साथ भारत देश के निर्वाचन आयोग का भी अहम् योगदान है। हमारे निर्वाचन आयोग की वजह से ही देश में निष्पक्ष चुनाव हो पाते हैं.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस मे युवाओ का क्या योगदान रहना चाहिए

भारत देश की 65 प्रतिशत आबादी युवाओं की है इसलिए देश के प्रत्येक चुनाव में युवाओं को ज्यादा से ज्यादा भागीदारी करनी चाहिए और ऐसी सरकारें चुननी चाहिए, जो कि सांप्रदायिकता और जातिवाद से ऊपर उठकर देश के विकास के बारे में सोचें. जिस दिन देश का युवा जाग जाएगा, उस दिन देश से जातिवाद, ऊंच-नीच, सांप्रदायिक भेदभाव खत्म हो जाएगा। ये सिर्फ और सिर्फ हो सकता है हम सबके मतदान करने से.

राष्ट्रीय मतदाता दिवस थीम 2022

हर साल राष्ट्रीय मतदाता दिवस का उत्सव विभिन्न समर्पित विषयों के इर्द-गिर्द घूमता है. राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2022 की थीम ‘मजबूत लोकतंत्र के लिए चुनावी साक्षरता’ है. इस राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर, आप देश के नागरिक के रूप में अपनी जिम्मेदारियों के प्रति ईमानदार रहने के लिए अपनी पूरी कोशिश करें. चाहे वह अंतिम रूप से मतदान करने के लिए पंजीकरण करना हो या अन्य युवा मतदाताओं को पंजीकरण कराने में मदद करना हो.

FAQ

1. राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2022 कब है?

Ans – 25 जनवरी 2022

2. राष्ट्रीय मतदाता दिवस 2022 का थीम क्या है?

Ans – ‘मजबूत लोकतंत्र के लिए चुनावी साक्षरता’

3. मतदान जागरूकता सोलोगन (Matdata Jagrukta Slogan)

Ans – छोड़ो अपने सारे काम,
पहले चलो करें मतदान. | देश के विकास में दे अपना योगदान हर हाल में करना अपना मतदान. | हम सबकी है ये पूरी जिम्मेदारी , सही प्रतिनिधि चुनने में हो सबके वोटो की भागीदारी. |