मलेरिया – लक्षण , उपचार तथा बचाव !

मलेरिया – लक्षण , उपचार तथा बचाव !

सब कुछ होने पर भी यदि मनुष्य के पास स्वास्थ्य नहीं ! तो समझो उसके पास कुछ है ही नहीं।

25 अप्रैल – विश्व मलेरिया दिवस

मलेरिया भी डेंगू बुखार की तरह मच्छरों के काटने के बाद ही शुरू होता है। मलेरिया मादा एनोफलिज मच्छर के काटने से होता है। यदि इसका समय से उपचार नहीं किया गया तो आत्मघाती भी सिद्ध होता है। मलेरिया का मच्छर अक्सर अक्सर साफ पानी में पैदा होता है इसका प्रकोप बरसात की मौसम में बहुत ही बढ़ जाता है।

मलेरिया कितना खतरनाक है यह इस प्रकार पता चलता है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने 2007 में वैश्विक बीमारी के रूप में घोषित कर दिया। इसके पहले अफ्रीका में मुख्य रूप से पाया जाता था। प्रत्येक वर्ष 25 अप्रैल को विश्व मलेरिया दिवस के रूप में मनाया जाता है ताकि लोग मलेरिया के प्रति जागरूक हो सके सतर्क रहे।

मलेरिया फैलाने वाला मच्छर :

मादा एनोफलिज मच्छरो की एक प्रजाति है। जिसके काटने की वजह से मलेरिया नामक बीमारी उत्पन्न होता है।

मलेरिया कैसे फैलता है?

मलेरिया फैलने का मुख्य कारण है – यदि मादा एनोफलिज मच्छर किसी भी स्वास्थ्य व्यक्ति को कांटा (डंक मारा) तो वह व्यक्ति मलेरिया का शिकार हो जाएगा , उसके बाद कोई भी मच्छर जिसके पास मलेरिया वाला कीटाणु नहीं है वह यदि मलेरिया संक्रमित व्यक्ति को काटता है तो उस मच्छर के पास भी मलेरिया वाला कीटाणु चला जाएगा। इसी प्रकार से बहुत तेजी से मलेरिया फैल रहा है और इसका खतरनाक प्रकोप देखने को मिल रहा है। इसका इलाज उपलब्ध है घबराने की कोई बात नहीं है , सिर्फ सतर्क रहे। यदि कोई संक्रमित भी हो जाता है तो आप समय रहते अस्पताल ले गए तो मरीज मर सकता है।

मलेरिया का लक्षण :

  • तेज बुखार होना
  • बुखार के बाद पसीना आना और बुखार ठीक हो जाना उसके बाद फिर बुखार आ जाना।
  • अचानक ठंड लगना
  • शरीर में कपकपी शुरू हो जाना।
  • शरीर में दर्द
  • कभी-कभी उल्टी आना।

मलेरिया का बचाव :

  • गंभीर मलेरिया बनने से रोकना
  • मलेरिया रोधी दवाई का उपयोग (एंटीमलेरियल्स)
  • घर के आस-पास हमेशा सफाई रखें तथा पानी या किसी भी प्रकार कि कूड़ा कचड़ा नहीं जमा होने दे , जमा हुआ तुम मलेरिया वाला मच्छर पैदा हो जाएगा।
  • मादा एनोफलिज मच्छर शाम या रात में ही अधिकतर काटती है तो उसके लिए मच्छरदानी का प्रयोग जरूर करे।
  • हमेशा सतर्क रहें सावधानी बरतें किसी भी प्रकार के मच्छरों की चपेट में नहीं आए।

इसका मात्र एक उपाय है बचाव !!

मलेरिया का उपचार :

मलेरिया का उपचार उपयुक्त दिए गए किसी भी प्रकार का लक्षण दिखाई देता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क कीजिए। घरेलू इलाज में न पड़े !