अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस (International Human Solidarity Day)

अंतरराष्ट्रीय मानव एकता दिवस (International Human Solidarity Day)

विविधता में एकता का जश्न मनाने और एकजुटता के महत्व के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए हर साल 20 दिसंबर को विश्व स्तर पर अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस (International Human Solidarity Day) मनाया जाता है। संयुक्त राष्ट्र सहस्राब्दी घोषणा के अनुसार, एकजुटता उन मूलभूत मूल्यों में से है जो अंतर्राष्ट्रीय संबंधों के लिए आवश्यक हैं।

अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस है:

  • विविधता में हमारी एकता का जश्न मनाने का दिन;
  • सरकारों को अंतर्राष्ट्रीय समझौतों के प्रति अपनी प्रतिबद्धताओं का सम्मान करने के लिए याद दिलाने का दिन;
  • एकजुटता के महत्व के बारे में जन जागरूकता बढ़ाने का दिन;
  • गरीबी उन्मूलन सहित सतत विकास लक्ष्यों की उपलब्धि के लिए एकजुटता को बढ़ावा देने के तरीकों पर बहस को प्रोत्साहित करने का दिन;
  • गरीबी उन्मूलन के लिए नई पहल को प्रोत्साहित करने के लिए कार्रवाई का दिन।

एकजुटता क्या है?

एकजुटता को साझा हितों और उद्देश्यों के बारे में जागरूकता के रूप में परिभाषित किया गया है जो एक ऐसे समाज में एकता और संबंधों की मनोवैज्ञानिक भावना पैदा करता है जो लोगों को एक साथ बांधता है।

अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस का इतिहास:

संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 22 दिसंबर 2005 को संकल्प 60/209 द्वारा मानव एकता को एकजुटता के मौलिक और सार्वभौमिक अधिकारों के रूप में मान्यता दी गई थी, जो इक्कीसवीं सदी में लोगों के बीच संबंधों को दर्शाता है, और इस संबंध में ही प्रत्येक वर्ष 20 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय मानव एकता दिवस मनाए जाने का निर्णय लिया गया।