विविध

Read more
  • 05/12/2021
  • 0

भारत के संविधान में अल्पसंख्यक की कोई स्पष्ट परिभाषा नहीं है और इस मामले में राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग कानून भी उतना ही अस्पष्ट है ‘हम अल्पसंख्यक...

Read more
  • 05/12/2021
  • 1

कानपुर दंगों में पागल हो चुके दंगाइयों को समझाते हुए जब गणेश शंकर विद्यार्थी शहीद हुए थे तो उनकी उम्र महज 40 साल थी अगर कहीं...

Read more
  • 29/11/2021
  • 0

वीरप्पन के मशहूर होने से पहले तमिलनाडु में एक जंगल पैट्रोल पुलिस हुआ करती थी, जिसके प्रमुख होते थे लहीम शहीम गोपालकृष्णन. उनकी बांहों के डोले...

Read more
  • 26/11/2021
  • 0

13 साल पहले 26 नवंबर 2008 को हुआ चरमपंथी हमला एक ऐसी पहचान है जिसे मुंबई कभी अपने नाम नहीं करना चाहता था. लश्कर-ए-तैयबा के प्रशिक्षित...

Read more
  • 14/11/2021
  • 1

बच्चे ही किसी देश का भविष्य होते हैं ,उनका विकास देश के विकास को मजबूती देता हैं जितना शक्तिशाली देश के बच्चा होता हैं उतना ही...