Vijay Kumar

Read more
  • 11/02/2022
  • 0

महात्मा गांधी के समकालीन उस लोक कलाकार की कहानी जिसने उन्हें ‘अपनी अनारकली’ कहा जुलाई 1920 में अपने प्रसिद्ध लेख ‘चरखे का संगीत’ में गांधीजी ने...

Read more
  • 11/02/2022
  • 0

लता मंगेशकर के गाने को सुनकर ऐसा नहीं कह सकते कि ‘अरे यार, क्या कमाल का गाती हैं.’ उनके संगीत के लिए इज्जत की भावना अपने-आप...

Read more
  • 11/02/2022
  • 0

संघ के सबसे सम्मानित कार्यकर्ताओं में शामिल रहे नानाजी देशमुख पर प्रभाष जोशी के आलेख ‘चित्रकूट के घाट पर’ का एक अंश नानाजी देशमुख यानी विचारबद्ध...

Read more
  • 11/02/2022
  • 0

अपने इस लेख में प्रसिद्ध व्यंग्यकार शरद जोशी ने मिर्ज़ा ग़ालिब को उन महान व्यक्तित्वों की पांत में रखा है जिनका काम कभी पुराना नहीं होता...

Read more
  • 11/02/2022
  • 0

सोवियत संघ के मुखिया रहे स्टालिन के मन में न्याय, दया या संवेदना के लिए तिल भर भी जगह नहीं थी. सभी – उसके अपने बीवी-बच्चे...

Read more
  • 11/02/2022
  • 0

सर्वकालिक महान वैज्ञानिक माने जाने वाले अल्बर्ट आइंस्टीन की एक खोई हुई पांडुलिपि हाल ही में मिली है अल्बर्ट आइंस्टीन (जर्मन उच्चारण आइनश्टाइन) का जन्म, 14...