जानिए 28 दिसंबर का महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाएं – 28 December History in Hindi

जानिए 28 दिसंबर का महत्त्वपूर्ण ऐतिहासिक घटनाएं – 28 December History in Hindi

28 दिसंबर का इतिहास (28 December History) बहुत ही है खास! तभी तो किया गया इतिहास के किताबो में दर्ज़. तो आज़ उसी इतिहास के किताबो की पन्नो को खोलेंगे जिसमे 28 दिसंबर की इतिहास , प्रमुख घटनाएं उल्लेखित है. यदि आप सामान्य ज्ञान की शक्ति बढ़ाना चाहते है तो आप सभी प्रत्येक दिन की हुई घटनाओं को पढ़िए. यकीं मानिये आपका समान्य ज्ञान (General knowledge) पर पकड़ बन जायेगी. 28 दिसंबर वर्ष की दिन संख्या 362वां है , यदि वर्ष लीप ईयर हो तो दिन संख्या 363वां होगा.

28 December History

28 दिसंबर को जन्मे हुऐ प्रसिद्ध व्यक्ति – Famous persons born on December 28

  • 1900 – गजानन त्र्यंबक माडखोलकर , मराठी उपन्यासकार, आलोचक तथा पत्रकार.
  • 1932 – नेरेला वेणु माधव , भारतीय मिमिक्री कलाकार थे.
  • 1932 – धीरूभाई अंबानी , भारत के प्रसिद्ध उद्योगपति थे.
  • 1937 – रतन टाटा, सुप्रसिद्ध भारतीय उद्योगपति.
  • 1952 – अरुण जेटली, भारतीय राजनेता.
  • 1991 – आचार्य पंडित पुनीत द्विवेदी , रामायण प्रवक्ता.

28 दिसंबर को हुई प्रसिद्ध व्यक्तियों का निधन – Famous persons death on December 28

  • 1940 – ए. के. एंटनी , भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनीतिज्ञ,जो केरल के भूतपूर्व मुख्यमंत्री रहे हैं.
  • 1940 – सुन्दरलाल शर्मा , बहुमुखी प्रतिभा के धनी, सामाजिक क्रांति के अग्रदूत तथा छत्तीसगढ़ राज्य में जन जागरणकर्ता थे.
  • 1948 – अकबर हयद्री , भारतीय सिविल सेवक और राजनीतिज्ञ थे.
  • 1972 – चक्रवर्ती राजगोपालाचारी, वकील, लेखक, राजनीतिज्ञ और दार्शनिक रहें.
  • 1974 – हीरा लाल शास्त्री , प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ तथा राजस्थान के प्रथम मुख्यमंत्री रहे.
  • 2003 – कुशाभाऊ ठाकरे , 1998 से 2000 तक भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे.
  • 2016 – सुंदर लाल पटवा , भारतीय जनता पार्टी के राजनीतिज्ञ तथा मध्य प्रदेश के भूतपूर्व 11वें मुख्यमंत्री थे.

28 दिसम्बर को आयोजित होने वाली प्रमुख दिवस समारोह – Events on December 28

  • केन्द्रीय आरक्षी पुलिस दिवस

जरूर जानिए: शून्य एक सम संख्या है या विषम?

28 दिसंबर की महत्वपूर्ण एतिहासिक घटनाएं – 28 december history

  • 1668 – मराठा शासक शिवाजी के पुत्र संभाजी की मुग़ल शासक औरंगजेब द्वारा कैद करके यातना देने के कारण मौत हो गयी.
  • 1767 – किंग ताकसिन थाईलैंड के राजा बने तथा उन्होंने थोनबुरी को अपनी राजधानी बनाया.
  • 1836 – स्पेन ने मेक्सिको की स्वतंत्रता को मान्यता प्रदान किया.
  • 1885 – भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का पहला अधिवेशन बंबई में हुआ ,जिसमें 72 प्रतिनिधि शामिल हुए.
  • 1896- भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के कोलकाता अधिवेशन में पहली बार बन्दे मातरम् गाया गया था.
  • 1906 – दक्षिण अमेरिकी देश इक्वाडोर ने अपना दूसरा उदारवादी संविधान अंगीकार किया.
  • 1926- इंपिरियल एयरवेज ने भारत और इंग्लैंड के बीच यात्री और डाक सेवा शुरू की.
  • 1928- कोलकाता में पहली बार बोलती फ़िल्म मेलोडी ऑफ लव प्रदर्शित हुई थी.

जरूर पढ़े: सुमित्रानंदन पंत की जीवनी !!

  • 1942 – रॉबर्ट सुलिवन पहले पायलट बने , जिन्होंने अटलांटिक महासागर के ऊपर एक सौ बार उड़ानें भरी.
  • 1950 – द पीक डिस्ट्रिक्ट ब्रिटेन का पहला राष्ट्रीय पार्क बना.
  • 1957 – सोवियत संघ ने परमाणु परीक्षण किया.
  • 1966 – चीन ने लोप नोर में परमाणु परीक्षण किया.
  • 1974 – पाकिस्तान में 6.3 तीव्रता के भूकंप आने की वजह से लगभग 5200 लोग मरे.
  • 1976 – अमेरिका ने नेवादा में परमाणु परीक्षण किया.
  • 1984 – श्री राजीव गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस को लोकसभा चुनाव में जीत मिली थी.
  • 1995 – पोलैंड के अन्वेषक मारके कार्मिस्की एक ही वर्ष में उत्तरी एवं दक्षिणी ध्रुवों पर झंडा फहराने वाले पहले व्यक्ति बने, विश्व सिनेमा का दूसरी सदी में प्रवेश.
  • 2000 – भारतीय डाक विभाग द्वारा वीरता पुरस्कार विजेताओं के सम्मान में पांच डाक टिकटों के सेट में 3 रुपये का एक सचित्र डाक टिकट जारी किया गया.
  • 2003 – इस्रायल ने कज़ाकिस्तान के बैंकानूर अंतरिक्ष स्टेशन से दूसरा वाणिज्य उपग्रह छोड़ा.
  • 2010 – एक मानव के अवशेष जो 400,000 साल पहले रहते थे, वे इजरायल में खोजे गए थे, इस सिद्धांत को चुनौती देते हुए कि मनुष्यों की उत्पत्ति अफ्रीका में हुई थी.
  • 2013 – आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में कांग्रेस के समर्थन से सरकार बनायी.
  • 2014 – संयुक्त राज्य अमेरिका और संबद्ध सेनाएं अफगानिस्तान में युद्ध मिशन को समाप्त करती हैं, जो 2001 में अमेरिका में 9/11 आतंकवादी हमलों के बाद शुरू हुई थी. ; लगभग 13,000 सैनिक तालिबान के खिलाफ अपनी लड़ाई में अफगान पुलिस और सैन्य बलों को प्रशिक्षित करने के लिए रहेंगे.